उद्देश्य और कार्य

उद्देश्य

  • भारत सरकार और राज्यों से प्राप्त निवेदनों के उत्तर स्वरूप उन्हें स्कूली स्तर पर मुक्त और दूरस्थ शिक्षा प्रणाली के उपयुक्त विकास संबंधी परामर्श प्रदान करना ।
  • जीविका और जीवन पर्यंत शिक्षा के लिए पूर्व-स्नातक स्तर तक आवश्यकता धारित शैक्षिक और व्यावसायिक शिक्षा कार्यक्रम तैयार करना ।
  • शिक्षार्थियों के लिए गुणात्मक मुक्त और दूरस्थ शिक्षा पाठ्यचर्चा, पाठ्यक्रम संबंधी सामग्री के विकास में उत्कृष्टता प्राप्त करना ।
  • पूर्व-स्नातक स्तर तक की शिक्षा में सहायता प्रदान करने के लिए प्रभावशाली शिक्षार्थी सहायता प्रणाली विकसित करने हेतु संस्थाओं को प्रत्यायित करना ।
  • अनुसंधान और विकास की गतिविधियों द्वारा मुक्त और दूरस्थ शिक्षा प्रणाली को सशक्त करना ।
  • नेटवर्किंग, सक्षमता निर्माण, संसाधनों की भागीदारी और गुणवत्ता सुनिश्चित करके राष्ट्रीय और वैश्विक स्तर पर मुक्त विद्यालयी शिक्षा का प्रसार करना ।

कार्य

  • भारत में मुक्त विद्यालयी शिक्षा कार्यक्रम को बढ़ावा देने और उनके उन्नयन के लिए रणनीति संबंधी योजनाएँ तैयार करने हेतु कदम उठाना ।
  • भारत में राज्य सरकारों को राज्य मुक्त विद्यालय (रा.मु.वि.) स्थापित करने और उनके उन्नयन के लिए तकनीकी और वित्तीय सहायता प्रदान करना ।
  • दरकिनार किये गए और सुविधावंचित समूहों जैसे लड़कियां/महिलाएं, अल्पसंख्यक, विभिन्न रूप से अक्षम (शारीरिक और मानसिक रूप से अक्षम) के लिए समता आधारित और सम्मिलित शिक्षा प्रदान हेतु , कार्रवाई योजना तैयार करना ।
  • पूर्व-स्नातक स्तर तक अध्ययन के लिए सामान्य, व्यावसायिक और सतत शिक्षा और जीवन समृद्धि पाठ्यक्रमों की विशद श्रंखला चलाना ।
  • (I) मुक्त बेसिक शिक्षा (ओ.बी.ई.), (II) माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक शिक्षा और (III) व्यावसायिक शिक्षा और प्रशिक्षण (वी.ई.टी.) कार्यक्रमों के लिए आवश्यकता धारित पाठ्यचर्चा और स्व-अध्ययन सामाग्री तैयार करना जिसमें कौशल विकास को पर्याप्त महत्व दिया जाए ।
  • पाठ्यक्रमों और कार्यक्रमों की पाठ्यक्रम सामग्री के प्रभावशाली संप्रेषण के लिए मल्टीमीडिया और बहु-चैनल प्रासारण माध्यम विकसित करना ।
  • भारत और विदेश में एजेंसियों, संगठनों और संस्थाओं में स्थापित अध्ययन केन्द्रों द्वारा शिक्षार्थियों को प्रभावशाली शिक्षार्थी सहायता सेवाएँ प्रदान करना ।
  • परीक्षाएँ आयोजित करना और सफल शिक्षार्थियों को प्रमाण पत्र जारी करना ।
  • नव-साक्षरों को शिक्षा/प्रमाण पत्र प्रदान करने के लिए समकक्षता कार्यक्रम के अंतर्गत राष्ट्रीय साक्षारता मिशन के साथ भागीदारी करना ।
  • मॉनीटरिंग, निरीक्षण और मूल्यांकन द्वारा मुक्त और दूरस्थ शिक्षा में गुणवत्ता को बढ़ावा देना, अपनी विशिष्ट पहचान को कायम रखते हुए औपचारिक शिक्षा प्रणाली के मानकों के साथ समकक्षता बनाए रखना ।
  • मुक्त विद्यालयी शिक्षा के क्षेत्र में अनुसंधान, प्रवर्तन और विकास संबंधी गतिविधियां करना और उसके निष्कर्ष सभी सहभागियों को वितरित करना ।
  • मुक्त विद्यालयी शिक्षा पर एक डाटा बेस स्थापित करना ।
  • राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मुक्त विद्यालयी शिक्षा में स्रोत संगठन और सक्षमता निर्माण केन्द्र के रूप में कार्य करना
  • मुक्त विद्यालयी शिक्षा के प्रसार के लिए राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के साथ सहयोग करना । राष्ट्रीय लक्ष्यों और उद्देश्यों को प्राप्त करने के लिए स्कूली क्षेत्र पर सरकारी योजनाओं और कार्यक्रमों में साथ सहभागिता करना ।
  • भारत और विदेश में संस्थाओं / संगठनों / एजेंसियों को मुक्त और दूरस्थ शिक्षा के क्षेत्र में व्यावसायिक /तकनीकी परामर्श प्रदान करना ।

महत्वपूर्ण लिंक