कंप्यूटर इकाई

प्रभारी: श्री. एस के प्रसाद

मुक्त शिक्षा में, प्रत्यक्ष संपर्क बहुत सीमित होता है और शिक्षार्थी दूर होते हैं तथा शिक्षण पद्धति दूरस्थ शिक्षा माध्यम से होती है । इस प्रकार के परिदृश्य में मुक्त विद्यालयी शिक्षा के प्रमुख रूप से सूचना और संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी) पर निर्भर करना पड़ता है । मुक्त विद्यालयी शिक्षा के मामले में सूचना और संप्रेषण प्रौद्योगिकी (आईसीटी) का उपयोग उसकी विशेषताओं के कारण और भी अधिक प्रासंगिक है । राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी शिक्षा संस्थान ने अपनी लगभग सभी गतिविधियों और कार्यक्रमों में आईसीटी का अधिकतम उपयोग किया है । राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी शिक्षा संस्थान (एनआईओएस) के कार्यक्रमों और गतिविधियों के, सूचना और सम्प्रेषण प्रौद्योगिकी शिक्षा वंचितों तक शिक्षा पहुंचाने और एनआईओएस के प्रबंधन के लिए एक प्रमुख रणनीति है ।

संरचनात्मक सुविधाएं

1989 में दो व्यक्तिगत कंप्यूटरों के साथ छोटी सी शुरुआत करके आज एनआईओएस ने आईसीटी की प्रथम पंक्ति में आने के लिए एक लंबी यात्रा तय की है । इन वर्षों में दौरान एनआईओएस की गतिविधियों के कम्प्यूटरीकरण के लिए सभी आवश्यक हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर सुविधाएं संस्थापित की हैं ।

एक छोटी कंप्यूटर इकाई से आरंभ करते हुए जिसमें कुछ ही कंप्यूटर थे, आज यह एक सुविधासंपन्न कम्प्यूटर डिवीजन के स्तर पर पहुँच गया है जिसमें पाँच इकाइयां हैं जो इस प्रकार हैं:- .

  • ईडीपी इकाई
  • इंटरनेट और ऑन लाइन आवेदन इकाई
  • सॉफ्टवेयर विकास और क्रियान्वयन इकाई
  • नेटवर्किंग और रखरखाव इकाई
  • जब चाहो तब परीक्षा (ऑन डिमांड परीक्षा) इकाई

आज यह अद्यतन हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर से संपन्न है । यहाँ बेसिक ऑपरेटिंग प्रणाली के रूप में विंडोज 2007 सहित केंद्रीयकृत डाटाबेस प्रणाली के साथ स्थानीय क्षेत्र नेटवर्क है । ईडीपी इकाई के अत्यधिक मुद्रण कार्य की आवश्यकतापूर्ति के लिए दो तीव्र गति मैट्रिक्स प्रिंटर हैं । यद्यपि सुचारु रूप से कार्य करने के लिए सभी विभागों और शाखाओं को डेस्कटॉप और प्रिंटर प्रदान किए गए हैं । सभी भवनों में सभी कंप्यूटर उच्च स्तरीय आईबीएम सर्वर और विंडोज 2003 सर्वर ऑपरेटिंग सिस्टम और 100/100 एमबीपीएस समर्थन कनेक्टिविटी हैं । इससे प्रयोगकर्ताओं के बीच सम्प्रेषण और संसाधनों का आदान प्रदान बहुत अधिक बढ़ गया है ।

इंटरनेट के लिए बीएसएनएल से संस्थापित 4 एमबीपीएस की इंटरनेट लीज्ड लाइन (आईएलएल) है । इसके साथ, इंटरनेट की उपलब्धता क्षेत्र ( लोकल एरिया नेटवर्क) के माध्यम से हर समय संभव की गई हैं । इससे एनआईओएस की सूचना और संप्रेषण सक्षमता को अत्यधिक बढ़ावा मिला है । इसने शिक्षार्थियों से तुरंत सम्पर्क करने में भी सहायता की है । एक अन्य उपलब्धि कॉल सेंटर की तरह के कॉम्पैक्ट शिक्षार्थी सहायता केंद्र (LSC) की स्थापना है । जो हर रोज प्रात: 09:00 बजे से सायं 5:30 तक (अधिकारियों द्वारा समर्थित) और सायं 5:30 बजे से प्रातः 9:00 बजे तक (आईवीआरएस द्वारा समर्थित) कार्य करता है । यह एक प्रौद्योगिकी समर्थित शिक्षार्थी सहायता प्रणाली है । जिसमे 5-7 शिक्षार्थी सहायता कार्यकारी होते हैं । जिनके पास अंतःक्रियात्मक प्रणाली (आईवीआरएस) द्वारा रिकॉर्ड की गई जानकारी होती है ।

वेब सर्वर और ऑनलाइन आवेदन:- एनआईओएस सभी ऑनलाइन आवेदनों और डेटाबेस के लिए: 6 वेबसर्वर हैं और इन सर्वरों को 10 एमबीपीएस बैंडविड्थ प्रदान की गई है ।

एनआईओएस के सभी क्षेत्रीय केंद्रों को बेसिक कंप्यूटिंग सुविधाएं 4-6 कंप्यूटर और 2-4 प्रिंटर प्रदान किए गए हैं । क्षेत्रीय केन्द्रों को इंटरनेट डाटा के स्थानातरण के लिए ई मेल की सुविधा नोएडा के मुख्यालय से संपर्क के लिए 1 एमबीपीएस की 1एलएल भी प्रदान किया है । प्रवेश और परीक्षा डाटा ई-मेल के द्वरा क्षेत्रीय केंद्रों से मुख्यालय को भेजा जाता है जिससे प्रोसेसिंग का कार्य तेजी से होता है ।

एनआईओएस ऑनलाइन के अंतर्गत (नि-योन) एनआईओएस शिक्षार्थियों के लिए ऑनलाइन सुविधा

  1. माध्यमिक और उच्च माध्यमिक के लिए ऑनलाइन प्रवेश
    • एनआईओएस स्कूली स्तर पर उन पहली शैक्षिक संस्थाओं में से एक है एनआईओएस ऑनलाइन परियोजना के अंतर्गत प्रवेश, परीक्षा और प्रत्यायन की बेसिक कार्यों में संरचनात्मक और कार्यात्मक परिवर्तन किया है ।
    • एनआईओएस ऑनलाइन परियोजना जुलाई 2007 में प्रायोगिक आधार पर आरंभ की गई थी जिसमें 30,000 प्रवेश किए गए थे । इसका उन्नयन और प्रसार जुलाई 2008 में किया गया - ऑनलाइन प्रवेश की बढ़ाई गई अवधि के दौरान कुल 3.70 लाख प्रवेश में से 1,63,000 नामांकन हुए और वर्ष 2010-11 से 100% ऑनलाइन प्रवेश आरंभ किया गया ।
    • एनआईओएस ऑनलाइन के अंतर्गत प्रवेश के नए स्ट्रीम खोले गए जिससे विभिन्न प्रकार के शिक्षार्थियों तक पहुंचा जा सके ।
      • ऑनलाइन प्रवेश - स्ट्रीम 1 -सभी शिक्षार्थियों के लिए ।
      • ऑनलाइन प्रवेश - स्ट्रीम 2 - एक मूल्यवान वर्ष को बचाने के लिए अक्तूबर परीक्षा में बैठने के लिए मान्यता प्राप्त बोर्ड के असफल / अनुत्तीर्ण हुए शिक्षार्थीयों के लिए ।
      • ऑनलाइन प्रवेश - स्ट्रीम 3- माध्यमिक स्तर पर जब चाहो तब परीक्षा प्रणाली (ओड्स) द्वारा परीक्षा देने के लिए मान्यता प्राप्त बोर्डों के असफल / अनुत्तीर्ण शिक्षार्थी ।
      • ऑनलाइन प्रवेश - 4 स्ट्रीम - उच्च माध्यमिक स्तर पर जब चाहो तब परीक्षा प्रणाली (ओड्स) द्वारा परीक्षा देने के लिए मान्यता प्राप्त बोर्डों के असफल / अनुत्तीर्ण शिक्षार्थी ।

    ऑनलाइन प्रवेश के लाभ इस प्रकार हैं:

    • समय और स्थान से स्वतंत्र :- कहीं भी कभी भी - प्रवेश 24x7 खुला है : शिक्षा को पूर्ण रूप से उपलब्ध करने के लिए ।
    • तीव्र और साधारण प्रवेश: एनआईओएस प्रवेश के लिए सीधा संपर्क ।
    • अध्ययन केंद्र का विकल्प: अपनी पसंद का अध्ययन केन्द्र चुनने को स्वतंत्रता ।
    • बेहतर सहायता सेवाएँ :- एनआईओएस के साथ सीधे संपर्क और सभी समस्याओं का तीव्रतर निवारण ।
    • आसान भुगतान: क्रेडिट कार्ड द्वारा शुल्क का ऑनलाइन भुगतान, अन्यथा बैंक द्वारा
    • पहचान पत्र/अध्ययन सामग्री का प्रेषण सीधे शिक्षार्थियों को
    • एक बटन के एक क्लिक पर सुविधाजनक प्रवेश प्रक्रिया
    • प्रवेश और ऑनलाइन मोनिटरिंग की प्रक्रिया में शिक्षार्थी भी शामिल ।
    • आवेदन की प्राप्ति के 10 दिनों में प्रवेश की पुष्टि.

    एनआईओएस - ऑनलाइन परियोजना ने गवर्नमेंट प्रोसेसरी - इंजीनियरिंग में सर्वश्रेष्ठत के वर्ग में ई - गवर्नेस के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार 2008 जीता है ।

  2. व्यावसायिक शिक्षा के लिए ऑनलाइन प्रवेश - 80-85 व्यावसायिक पाठ्यक्रम चलाना ।
  3. परीक्षा शुल्क ऑनलाइन जमा कराना ।
  4. एनआईओएस की विभिन्न सेवाओं के लिए शुल्क हेतु सभी क्रेडिट कार्ड (मास्टर/वीजा) द्वारा ऑनलाइन भुगतान ।
  5. जब चाहो तब परीक्षा के लिए ऑनलाइन पंजीकरण
  6. पहचान पत्रों/अध्ययन सामग्री के प्रेषण की ऑनलाइन स्थिति ।
  7. एनआईओएस पाठ्यक्रम सामग्री की ऑनलाइन उपलब्धता ।
  8. एनआईओएस विवरणिका की ऑनलाइन उपलब्धता ।
  9. अध्ययन केंद्र सूचना की ऑनलाइन उपलब्धता ।
  10. शिक्षार्थी सहायता केंद्र के टॉल फ्री न. 18001809393, lsc(at)nos[dot]org
  11. ऑनलाइन शिक्षार्थी सूचना प्रणाली
    • प्रवेश विवरण
    • अनुशिक्षक अंकित मूल्यांकन कार्य ।
    • ऑनलाइन पाठ्यक्रम सामग्री
    • पाठ्यक्रम और नमूना प्रश्न पत्र
    • निष्पत्ति चार्ट
    • अध्ययन केंद्र वार सूची
  12. अपने शिक्षक से पूछें के माध्यम से ऑनलाइन परामर्श
  13. शैक्षिक, व्यावसायिक अथवा ओपन बेसिक शिक्षा कार्यक्रम के लिए एनआईओएस की प्रत्यायित संस्था बनने के लिए स्कूलों / संस्थाओं/ एजेंसियों के ऑनलाइन प्रत्यायन ।

क्रियान्वयन के क्षेत्र

इन वर्षों के दौरान, एनआईओएस की शैक्षिक और प्रशासनिक दोनों की सभी प्रमुख गतिविधियां कंप्यूटरीकृत हैं ।

शिक्षार्थी डेटाबेस प्रबंधन

इन वर्षों में शिक्षार्थियों का नामांकन अत्यधिक बढ़ा है । 1990-91 में 40 हजार से आरंभ होते हुए, वर्ष 2011-12 के वर्तमान नामांकन 470 हजार हो गया है । जिससे संचयी नामांकन 2200 हजार हो गया है । ईडीपी इकाई डाटा को प्रभावशाली ढंग से और दक्षतापूर्वक प्रबंधन करती है । डेटाबेस प्रबंधन रिलेशन डाटाबेस प्रबंधन प्रणाली (आरडीबीएमएस), विजुअल फॉक्सप्रो और एसक्यूएल डाटाबेस सर्वर द्वारा किया जाता है । विभिन्न सांख्यिकीय रिपोर्ट और एमआईएस रिपोर्ट तैयार की जाती है और एनआईओएस उच्चाधिकारियों को उपलब्ध कराई जाती है ।

शिक्षार्थी सूचना प्रणाली

पंजीकरण / प्रवेश से आरंभ करते हुए प्रमाणपत्र जारी करने तक, सभी प्रक्रियाएं स्वत: चालित/कम्प्यूटरीकृत हैं । शिक्षार्थी सूचना प्रणाली के अंतर्गत निम्नलिखित क्षेत्र शामिल हैं:

  • प्रवेश/पंजीकरण
  • एनआईओएस में प्रवेश ऑनलाइन माध्यम से पूरे अब वर्ष उपलब्ध है । शिक्षार्थियों की विभिन्न आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए प्रवेश के विभिन्न स्ट्रीम हैं.
  • पूर्व परीक्षा
  • प्रवेश प्रक्रिया समाप्त होने के बाद, परीक्षा डाटा को तैयार किया जाता है । परीक्षा के आयोजन के लिए बहुत सी रिपोर्टें जैसे प्रश्न पत्र विवरण की आवश्यकता, शिक्षार्थियों की सूची, उपस्थिति पत्रक, आदि मुद्रित की जाती हैं ।
  • परीक्षाओं के आयोजन के बाद, परीक्षा के बाद का काम आरंभ होता है जिसमें गोपनीयता कार्य, मूल्यांकन कार्य और परिणाम की प्रोसेसिंग का कार्य आरंभ होता है । शिक्षार्थियों की अंक सूचियाँ और अंतिम प्रमाण पत्र उनकी फोटो के साथ मुद्रित किए जाते हैं ।

प्रशिक्षण

कंप्यूटर इकाई का एक प्रशिक्षण केन्द्र है जहां अधिकारियों और कर्मचारियों को आईसीटी प्रशिक्षण दिया जाता है । कंप्यूटर इकाई ने विभिन्न आईसीटी प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए हैं ।

वेब पर एनआईओएस

इंटरनेट और वेब प्रौद्योगिकी शिक्षण और अधिगम प्रक्रिया में, विशेषकर मुक्त और दूरस्थ शिक्षा के क्षेत्र में अत्यंत प्रभावशाली सिद्ध हुई है । इंटरनेट की सहायता से, व्यक्ति के लिए विश्व भर में सूचना मात्र सदैव ही उपलब्ध रहती है ।

एनआईओएस की अपनी वेब साइट www.nios.ac.in है और इसे एनआईओएस के बारे में सूचना के प्रसार के लिए भारतीय सरकारी वेबसाइट (जीआईजीडब्ल्यू) के दिशानिर्देशों के अनुसार है ।

एनआईओएस अधिकारियों को ई - मेल आईडी

एनआईओएस वेब साइट पर एनआईओएस अधिकारियों की कार्यालयी ई-मेल आईडी तैयार की है और प्रदान की गई है । अधिकारियों को इंटरनेट और अपने ई-मेल तक पाहुचने में सहायता प्रदान करने के लिए एक प्रशिक्षण-सह-अभिविन्यास कार्यक्रम का आयोजन किया गया ।

शिक्षार्थियों की सहायता के लिए एक अलग लिंक "अपने शिक्षक से पूछें प्रदान किया गया है । अब शिक्षार्थी ई-मेल द्वारा किसी विषय विशेषज्ञ विशेष से ई-मेल स्वरा संपर्क कर सकते हैं और विषय क्षेत्र से संबंधित समस्याओं/प्रश्नों का समाधान कर सकते हैं ।

एनआईओएस की विभिन्न प्रभाग

एनआईओएस वेबसाइट निम्नलिखित प्रभागों में विभाजित की गई है

  1. सूचना भाग
    • एनआईओएस के बारे में, इसकी गतिविधियों, प्रवेश, परीक्षाएं, प्रशासन, मीडिया, संगोष्ठियाँ, कार्यशालाएं और सम्मेलनों और उनकी रिपोर्ट, और अद्यतन जानकारियाँ ।
    • शिक्षार्थी के बारे में पूरी जानकारी के लिए ऑनलाइन सूचना प्रणाली जिसमें प्रवेश के विवरण, अनुशिक्षक मूल्याकन कार्य, पाठ्यक्रम सामग्री, पाठ्यक्रम और नमूना प्रश्न पत्र, पिछले वर्ष के प्रश्न पत्र, निष्पत्ति विवरण ।
    • अन्य राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं मुक्त शिक्षा और दूरस्थ शिक्षा और उन संस्थाओं को हाइपरलिंक ।
  2. सेवाएँ और आपसी क्रियाएँ
    • एनआईओएस शिक्षार्थी की फोटो के साथ परीक्षा परिणाम
    • एनआईओएस शिक्षार्थी की फोटो के साथ हॉल टिकट /प्रवेश कार्ड
    • शिक्षार्थी की प्रवेश स्थिति
    • ई - मेल द्वारा आपसी संपर्क
    • एनआईओएस परीक्षाओं के प्रश्न पत्र और अंक योजनाएँ ।
    • पाठ्यक्रमानुसार नमूना प्रश्न पत्र ।
    • अनुशिक्षक अंकित मूल्याकन कार्य (टीएमए)
  3. ऑन लाइन पाठ्यक्रम सामग्री
    • के सभी पाठ्यक्रम सामग्री संदर्भ उद्देश्य के लिए इंटरनेट पर उपलब्ध हैं और छात्रों और शिक्षाविदों के हितों की सेवा.
  4. जब चाहो तब परीक्षा प्रणाली

    राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी शिक्षा संस्थान पिछले डेढ़ साल से माध्यमिक स्तर पर जब चाहो तब परीक्षा (ओडीई) की संकलपना पर उसकी व्यवहार्यता और कार्यान्वयन के क्षेत्र में कार्य कर रहा है, ऑन डिमांड परीक्षा (ओडीई) की यह नयी संकल्पना मुक्त और दूरस्थ शिक्षा को सुविधाजनक बनाने की दिशा में एक बड़ा कदम है । इससे परीक्षा की पूरी प्रणाली समय की बाध्यता से मुक्त हो जाएगी और शिक्षार्थियों को उनकी इच्छा और तैयारी के अनुसार परीक्षा देने में सहायता करेगी । वे जब परीक्षा के लिए तैयार हो, वे परीक्षा केंद्र जा सकते हैं ।

    ओडीई की प्रणाली के अंतर्गत, जब भी मांग हो, कंप्यूटर द्वारा प्रश्न पत्र डिजाइन और विषय के ब्लू प्रिंट के आधार पर पहले से ही तैयार प्रश्न बैंक से प्रश्न - पत्र तैयार किया जाता है जिसमें प्रशनों की निर्धारित संख्या होती है ।

    • एनआईओएस ने 2005 माध्यमिक स्तर पर और 2007 में उच्चतर माध्यमिक स्तर जब चाहो तब परीक्षा (ओड्स) लागू की ।
    • इससे एनआईओएस के शिक्षार्थी जिस विषय की परीक्षा देना चाहें, वे अपनी पसंद के दिन पर परीक्षा से सकते हैं ।
    • प्रश्न पत्र पुस्तिका एनआईओएस की सार्वजनिक परीक्षाओं और अन्य स्कूल शिक्षा बोर्ड के समकक्ष स्तर की होती है ।
    • इस समय यह माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक स्तर पर नोएडा और इसके सभी क्षेत्रीय केंद्र में आयोजित की जाती है सीसीटीवी द्वारा मोनिटरिंग की जाती है ।
    • जब चाहो तब परीक्षा के लिए वर्ष भर ऑनलाइन प्रवेश ।
    • पिछले महीने में आयोजित परीक्षाओं के लिए प्रत्येक माह परिणाम घोषित ।
    • वर्ष भर शिक्षार्थी केंद्रित परीक्षा प्रणाली उपलब्ध है ।

महत्वपूर्ण लिंक